हरियाणा

अपने ही गांव के तथा अपनी ही जाति के लड़के से प्यार की जिद करने वाली लड़की की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत

रोहतक में ऑनर कीलिंग का मामला सामने आया

लड़की के परिजनों व पुलिस का कहना है कि लड़की ने फांसी लगा कर खुदकशी की , लेकिन सबूत कुछ और ही कहानी बयान करते हैं

तथ्यों की गहराई से जांच करने की बजाए पुलिस कर रही है ऑनर कीलिंग की घटना पर लीपापोती

  • सर्वदमन सांगवान
    @ 9812024027
    रोहतक । रोहतक में ऑनर कीलिंग का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है । पता चला है कि दो सप्ताह पहले रोहतक के शीतल नगर में श्रुति नामक युवती की खुदकशी की घटना असल में ऑनर कीलिंग का मामला था । हालांकि पुलिस ने इस मामले को खुदकशी का केस बता कर फाइल बंद करने की तैयारी कर ली थी , किंतु अचानक कुछ ऐसे गवाह , सबूत और वीडियोज सामने आये हैं , जिनसे इशारा मिलता है कि मामला महज खुदकशी का न हो कर हत्या का भी हो सकता है ।

पता चला है कि गत 29 अगस्त को रोहतक के शीतल नगर की रहने वाली श्रुति नामक लड़की ने अपने ही घर में फांसी का फंदा लगा कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली थी । श्रुति दरअसल 12 वीं करने के बाद रोहतक के हुडा कांप्लैक्स में स्थित शाइनिंग स्कूल एकेडमी में कोर्स कर रही थी । मूल रूप से गांव गांधरा की रहने वाली श्रुति की मां नीलम ने रोहतक के शिवाजी कालोनी थाने की पुलिस को रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उसकी बेटी ने गांव गांधरा के एक युवक राहुल पुत्र रणबीर सिंह से तंग हो कर खुदकशी की है । नीलम का कहना था कि राहुल उसकी लड़की को रास्ते में घेर कर तंग करता था और अक्सर उससे बदतमीजी करता था । रिपोर्ट में कहा गया है कि राहुल की हरकतों से परेशान हो कर ही नीलम अपनी बेटी और बेटे को गांव गांधरा से अप्रैल 2019 में रोहतक के शीतल नगर में ले आई थी । लेकिन यहां भी राहुल ने श्रुति का पीछा नहीं छोड़ा । नीलम ने राहुल को ही श्रुति की खुदकशी के लिए जिम्मेदार ठहराया था । पुलिस ने राहुल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 306 के तहत श्रुति को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज किया था ।

लेकिन अब खुलासा हुआ है कि श्रुति और राहुल पिछले डेढ़ दो साल से परस्पर एक दूसरे से प्यार करते थे और दोनों के बीच गहरे अंतरंग संबंध थे । राहुल भी गांव गांधरा का रहने वाला है और कंसाला स्थित आईटीआई में पढ़ता है । राहुल और श्रुति के कुछ फोटोग्राफ्स मिले हैं , जिनसे स्पष्ट होता है कि दोनों एक दूसरे से प्यार करते थे । श्रुति द्वारा राहुल को लिखे गये कुछेक प्रेम पत्र भी यह साबित करते हैं कि राहुल द्वारा श्रुति को तंग करने की बात सरासर झूठी है । सबसे बड़ी बात यह है कि श्रुति की मोबाइल कॉल डिटेल से भी यह पता चलता है कि श्रुति ही राहुल के पीछे हाथ धो कर पड़ी हुई थी । जिस दिन श्रुति के खुदकशी करने का घटनाक्रम सामने आया , उस दिन भी श्रुति ने ही राहुल को फोन करके झज्जर चुंगी स्थित हुडा पार्क में मिलने को बुलाया था । यह पार्क श्रुति के शीतल नगर स्थित घर के आसपास ही पड़ता है । राहुल के पिता रणबीर सिंह का कहना है कि श्रुति के बुलावे पर उसका बेटा अपने एक साथी के साथ हुडा पार्क में गया था , जहां श्रुति ने उसे बताया था कि उसके परिवार वाले उस (श्रुति) पर राहुल के खिलाफ छेड़खानी का झूठा मुकदमा दर्ज कराने का दबाव बना रहे हैं और मना करने पर जान से मारने तक की धमकी दे रहे हैं । श्रुति ने राहुल पर उसे वहां से कहीं भी ले चलने का दबाव भी बनाया और कहा कि वह घर वापिस नहीं जाना चाहती । वे वहां से अस्थल बोहर की तिलयर झील स्थित फॉस्ट फूड पर चले गये । राहुल ने श्रुति को घर वापिस जाने के लिए काफी समझाया बुझाया तो वह तैयार हो गई । वे वापिस जाने के लिए जब दिल्ली बाईपास पर पहुंचे तो राहुल ने श्रुति को अपनी मां से बात करने की सलाह दी जिस पर श्रुति ने दिल्ली बाई पास से अपनी मां नीलम के फोन पर बात की । यह बात खुद नीलम ने भी अपनी FIR में मानी है । तकरीबन साढ़े तीन चार बजे के आसपास श्रुति की मां नीलम , भाई यश , ताऊ रामफल व श्रुति का एक चाचा दिल्ली बाई पास पहुंचे । उनके साथ एक अन्य व्यक्ति भी था ,जो खुद को हरियाणा पुलिस का कर्मचारी बता रहा था । इन लोगों ने आते ही राहुल व श्रुति की पिटाई शुरू कर दी । वे इन्हें खींच कर अपने साथ ले जाने लगे तो दोनों ने “बचाओ-बचाओ” की गुहार लगाई । इस पर वहां भीड़ का मजमा लग गया । भीड़ के कहने सुनने पर राहुल को तो वहां से बच कर भाग निकलने का मौका मिल गया , लेकिन वे श्रुति को अपने साथ पकड़ कर घर ले गये । यह सारा घटनाक्रम दिल्ली बाई पास पर लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गया ।

राहुल के पिता रणबीर का कहना है कि श्रुति को उसके परिजनों ने ही मौत के घाट उतारा है और उसके बेटे राहुल को एक झूठे मुकदमे में फंसाया जा रहा है । रणबीर का कहना है कि पुलिस के अधिकारी भी अपने दकियानूसी विचारों के चलते हत्या के मुकदमे पर पर्दा डालकर उसे आत्महत्या का मामला बना रहे हैं ।

दिल्ली बाई पास के घटनाक्रम के दो प्रत्यक्षदर्शी भी सामने आये हैं । इनमें एक महिला दुकानदार है और दूसरा झज्जर जिले का रहने वाला युवक है । इन दोनों के बयानों से साफ हो जाता है कि श्रुति और राहुल एक दूसरे से प्यार करते थे । अगर श्रुति को राहुल से शिकायत होती तो वह बिना हील हुज्जत के राहुल के साथ कभी नहीं घूमती तथा न ही वह राहुल को अपने परिजनों से बचाने के लिए खुद उनकी मार खाती ।

पता चला है कि श्रुति की खुदकशी की घटना के बाद से ही राहुल गायब है और उसका कोई अता पता नहीं है । सारे मामले के बारे में जब जांच कर रहे रोहतक के डीएसपी सज्जन सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों को बुलाया गया है और गहराई से जांच करने के बाद ही कोई निष्कर्ष निकलेगा ।

Topics